देश, नीति, विकास और सम्मान = छद्म धर्मनिरपेक्षता की पाठशाला में पलता जेहाद


image

“बिनय न मानत जलधि जड़ गए तीनि दिन बीति।
बोले राम सकोप तब भय बिनु होइ न प्रीति॥”

यानि कि ‘भय बिनु प्रीत नाहिं गोसाई’ गोस्वामी तुलसीदास भी कह गये हैं मित्रों –

सो अब यह भारत देश सिर्फ राष्ट्र सर्वप्रथम और बहुसंख्यक सम्मान से ही आगे बढेगा…क्योंकि वही हर राष्ट्र की प्राथमिक पहचान होती है..!!

दुनिया का हर विकसित या विकासशील देश गवाह है इसी नीति के तहत ही प्रगति किये देश के रूप में…!!

image

फिर कहता हूँ मित्रों कि वसुधैव कुटुंबकम और बेमतलब की भाईचारे की चुटकियों से पकी खिचडी ना देश को संतुष्ट करे जैसा भोजन होती है ना नागरिकों को संतुष्ट करे सा भोजन होती है, ,यह अकाट्य सचाई हमारा भारत अब मान ही ले ….!!

image

हिंसक जानवर भेडियों को प्रेम व भाईचारा दिखाकर साथ सुलाने से भेडियों के द्वारा अचानक ही खून पी लिये जाने और चीर फाड देने की ,पिशाच बन जाने की संभावनाऐं बढ जाती है क्योंकि उनके गले में ना पट्टा होता है ना आपके पास उस समय दुर्भाग्यवश हंटर या अंकुश ही जो उनको कठोरता से नियमानुसार भेडिये होने की वजह से नियंत्रित ही कर सके ..सो हिंसक पशु खुल्लमखुल्ला विचरने से नागरिक जीवन समेत राष्ट्रीय व आंतरिक सुरक्षा ही मजाक बन जाती है..!!

भाईचारे व धर्मनिरपेक्षता की एकतरफा चुटकियां बजाने से इंकार करे सभी बहुसंख्यक ….और सेक्यूलरिज्म तथा भाईचारे का थोथा ज्ञान सिर्फ हम बहुसंख्या को बांटते हर लोगों के कनपटे के नीचे थप्पड़ बजा कर एक तरफा चुटकी और एक हाथ की ताली का तात्पर्य अच्छे से समझा देवें…ताकि आईन्दा ऐसे बकलोल मानसिक रोगी सेक्यूलर दलाल हमेशा के लिये अल्पसंख्यकों को ही भाईचारे, सेक्यूलरिज्म की ज्ञानपरक शिक्षाएं बांटने को विकसित व तत्पर हों…!!
हरे सांप्रदायिकों के आतंक व जेहाद की खूनी समस्या को 70% समाप्त करने का ‘एक मात्र हल’ है – समान नागरिक संहिता अर्थात् Universal Civil Code …!!

सो हर हल मोदी, हर घर मोदी
कमल निशान पर ही वोट देकर सजीव, सचेत,सम्मानित रहें और देश को अखंडित रखें!

वन्दे मातरम्

image

Posted By Dr. Sudhir Vyas at sudhirvyas’s blog in WordPress

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s